क्या कोरोना वायरस चीन फैला रहा है ।

क्या कोरोना वायरस चीन फैला रहा है ।

पूरी दुनिया मैं आज मंदी चल रही है कोविद १९ वायरस की वजह से दुनिया की लगभग सभी कम्पनिया बंद है। प्रोडक्शन बंद हो चुके है और साथ मैं सप्लाई भी बंद हो गई। हज़ारों लोग घर बैठे है और इंतज़ार मैं है के कब ये बंद बाजार खुलेगा. फ़िलहाल समस्या ये है की वायरस की वजह से मरीज़ों की तादाद बढ़ती जा रही है, हर रोज़ नए केसेस जुड़ते जा रहे है। उससे भी बड़ी समस्या ये है की हमारे पास अस्पतलों की कमी है और जो अस्पताल मौजूद है उनमे भी पूरी तरह से सुविधा उपलभ्द नहीं है। न हमारे पास प्रचुर मात्रा मैं वेंटीलेटर है और न ही मेडिकल बैड उपलभ्द है। जिस तरह लोक् डाउन चल रहा है उस हिसाब से हमें इस बीमारी पर कण्ट्रोल कर लेना चाहिए, लेकिन ये चौंका देने वाली बात सामने आ रही के इतना कण्ट्रोल के बाद भी इसके मरीज़ बढ़ते जा रहे है।
देखिये इस दुनिया मैं पहले भी ऐसे कई बीमारियां आई है जिनका इलाज उस वक़्त मैं करना असंभव था और उसकी वजह से कई लाख लोग मर जाते थे। कहीं कहीं तो पूरे के पूरे शहर ही साफ़ हो जाते थे। ये एक डरने वाली बात लगती है लेकिन ये सही है। मैंने बढे बूढ़ों से सुना है के उनके बचपन मैं प्लेग नामक एक बीमारी आई थी जिसने बोहोत नुक्सान किया था। हज़ारो लाखों लोग इसमें तबाह हुए थे बाद मैं वो कण्ट्रोल मैं आ गई थी लेकिन तब तक काफी लोग इसमें मारे गए थे। इसी तरह मलेरिया भी ऐसे ही बीमारी थी जो मच्छरों से फैली थी जिसने भी बोहोत जाने ली थीं।


कोविद १९ या कोरोना वायरस का सिलसिला भी कुछ ऐसा ही है लेकिन यहाँ ये समस्या है की ये लोगों से लोगों तक फैलता है। यानि उनके श्वास से या उनके लार्वा या उनके द्वारा छूने से भी हो सकता हे।
ये कहाँ से आया और कैसे फैला ?
देखिये ये एक रहस्यम पहलु हे के ये कहा से आया। लेकिन जानकारी के अनुसार ये सबसे पहले चीन मैं आया । वुहान जो एक चीन का शहर हे उसके एक इलाक़े मैं जानवरों के मांस की एक मंडी है, उस मंडी के आस पास के अस्पतालों मैं ऐसे मरीज़ों की तादाद अचानक से बढ़ने लगी जिनको कफ और बुखार था । पहले डॉक्टरों ने इसे मामूली मौसमी नज़ला बुखार समझा लेकिन जब इनके ब्लड का टेस्ट किया गया तो चौंकाने वाली बात सामने आई । एक ऐसा वायरस दिखाई दिया जो इनके शरीर मैं तेज़ी से फेल रहा था । ये खास तोर पर इनके फेफड़ों पर असर कर रहा था जिनकी वजह से मरीज़ों को श्वास समस्या उत्पपन्न हो रही थी ।

क्यों की वुहान चीन का एक ऐसा शहर हे जहाँ से पूरी दुनिया मैं सामान जाता है, ये एक दुनिया का बड़ा बाजार है जहाँ लोग बड़े पैमाने पर सामान खरीदने और बनवाने आते है । यहाँ दुनिया के बड़े आधुनिक कारखाने लगे है ।
इसी वजह से जब लोगों मैं ये संक्रमण पाया गया तो दुनिया मैं इसे फैलने मैं वक़्त नहीं लगा । ये चीन से निकल कर पहले इटली फिर ईरान फिर स्पेन फिर अमेरिका इंडिया और अब लगभग पूरी दिनिया मैं अपने आपको फैला चूका हे । अभी हाल ही के इटली के प्रेजिडेंट के बयान के अनुसार उन्होंने कह दिया की ये समस्या हमारी देश मैं इतनी बढ़ चुकी है की इसे संभालना अब हमारे लिए मुश्किल हो चूका है। और यही हालत अब दुसरे देशों के भी नज़र आते दिख रहे है ।

क्या चीन इसे फैला रहा है ?
ये एक मुश्किल सवाल हे की क्या चीन वास्तव मैं ऐसा कर सकता है ? शायद हो सकता है जिस तरह से आज चीन के हालात है उसी से ऐसा लग रहा है की चीन ऐसा कर भी सकता है। क्यों की बोहोत से ऐसे सवाल जो जो लगातार चीन की तरफ इशारा कर रहे है, जैसे चीन से लग भाग आठ हज़ार किलोमीटर की दूरी पर यूरोप है । और अमेरिका लग भाग १२ हज़ार किलोमीटर पर जबकि उत्तरी कोरिया पंद्रहसौ से दो हज़ार किलोमीटर और चीन की ही राजधानी बीजिंग महज़ आठसो किलोमीटर दूर है। फिर उत्तरी कोरिया या बीजिंग या उसी के दुसरे शहर शंघाई मैं ये कोरोना वायरस क्यों नहीं फैला है ? जबकि उससे आठ हज़ार या बारह हज़ार किलोमीटर दूर बसे देशो मैं ये इतनी तेज़ी से क्यों फेल रहा है ।
एक और सवाल जो इस बात पर इशारा कर रहा है की जिन देशों से चीन को खतरा या कॉम्पिटिशन हे उन्ही देशों मैं ये तेज़ी से क्यों फैला ? एक और सबसे बड़ी बात के आज पूरी दुनिया के कारखाने बाज़ार मंडिया सब बंद है फिर चीन ने अपने कारखाने बाजार मंडियां सब खोल दी है । आज वहां फिर से समांन्य जीवन चल रहा है जबकि पूरी दुनिया घरो मैं बंद है ?
दूसरी बात ये भी है की इस बंद की वजह से आज दुनिया की बड़ी से बड़ी कंपनियों के शेयर गिर चुके है जिसका फायदा चीन खूब उठा रहा है । वो लगातार बड़ी से बड़ी कंपनी के शेयर खरीद रहा है । चूँकि चीन एक मैन्युफैक्चरिंग हब हे और दुनियां मैं सबसे सस्ती मैन्युफैक्चरिंग देता है इसीलिए लगभग सभी बड़ी कंपनियों ने अपनी यूनिट चीन मैं लगा रखी हे । इन सभी कंपनियों की लग भाग चालीस प्रतिशत हिस्सेदारी अभी तक चीन इस मंदी के दौर मैं खरीद चूका है। जिन देशों चीन ने कर्ज़ा दिया हुआ है वो अब धीरे धीरे चीन को अपने आप को समर्पित करते जा रहे है । चूँकि चीन जानता है की अमेरिका एक सुपर पावर बना हुआ है और उसे वो हथ्यारो से लड़कर नहीं हरा सकता, इसी लिए वो पहले एक बड़ी स्कीम बना कर फिर अपने ही शहर मैं इसे फैला कर दुनिया में लाया हो ! ताकि दुनिया की सारी बड़ी कंपनियों के शेयर खरीद कर, देशों को अपने नियंतरण में करके और बड़े ताक़तवर देशों को कमज़ोर करके वो अपने आपको मज़बूत करले
ये सभी बातें संदेह पैदा करती है की चीन ही इसका जनक है और ये काम वो जान बूझ कर अपने मतलब को मनवाने के लिए कर सकता है । यही एक तीर से वो कई शिकार खेल सकता है ।


क्या इसका समाधान चीन के पास मौजूद हे ?
जब जिनपिंग जो चीन के प्रधान मंत्री है उन जगहों के दौरों पर गए जहा से ये फैला था तब वो मामूली एक मास्क लगाए हुए थे जो शायद काफी नहीं था इसके अलावा वो कई मरीज़ों से भी मिले तब भी उन्होंने वही एक मामूली मास्क पहने हुआ था । इसके अलावा आज वहां हालात सामान्य है और ये वायरस पूरी तरह से कण्ट्रोल में है । इसके अलावा चीन के सबसे घनिष्ट मित्र देशो जैसे कोरिया और रूस मैं भी लग भाग ये वायरस नियंतरण मैं है तो इससे ऐसा मालूम होता है के चीन के पास इसका टीका पहले से मौजूद है । लेकिन वो ये बात को छुपा रहा है ।
वो अभी दुनिया भर मैं अपने बनाये हुए मास्क और इस वायरस से बचने वाली किट तथा वायरस चेक करने वाली सभी उपकरणों को बाजार मैं लाने की कोशिश कर रहा हे । चूँकि वो जानता है की दुनिया मैं सबसे ज़्यादा और जल्दी वही प्रोडक्शन कर सकता है और इसकी इतनी डिमांड होने की वजह से दुसरे देश उससे ही ये खरीदेंगे । दूसरी बात ये भी हो सकती है की शायद जब ये वायरस पूरी तरह से फेल जायेगा तो दुनिया मैं सबसे पहले वही इसका टीका ले कर आएगा जिससे वो एक बोहोत मोटी रकम पूरी दुनिया से वसूल लेगा ।
फिलहाल शंकाओं का बाज़ार गरम है और अफवाहें भी फेल रही है इसी लिये आप अपने घरों मैं बने रहें और आदेशों का पालन करैं जब तक की कोई नया रास्ता नहीं निकलता ।
कुछ नियमों का नियमित पालन करैं जिससे आप खुदको और अपने परिवार को सुरक्षित रख सकें ।


१. घर मैं रहें जब आवश्यकता हो तभी बहार जाएँ
२. जब भी बहार जाएँ चेहरे पर मास्क लगा कर जाएँ
२. गरम पानी पिए
३. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने वाले पधारतों का सेवन करते रहें
४. बुज़ुर्गों और बच्चो का ख़ास ख्याल रखें
५. जो पहले से बीमार है वो भी अपना ख़ास ख्याल रखें
६. बार बार हाथ साबुन से लग भाग २० सेकंड तक धोएं

protection from corona virus

आप से विनती है की भीड़ इकट्ठी न करैं और न ही अनजान लोगों से ज़्यादा और करीब से मिलें , हमेशा मास्क पहन कर और लग भाग २ मीटर की दूरी बना कर बात करें
। हम उम्मीद करते है के जलदी इसका कुछ हल निकलेगा ।

हम हर समय आपके फायदे के लिए कुछ लाते रहते है जो हम हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में प्रकाशित करते है । हम इस बात का ख्याल रखते है के आपको ज़्यादा अच्छी जानकारों दे सकें जिसमें आपको नए ज़माने की सभी ताज़ा ख़बरें और देश विदेश के बारे में बता सकें । जो लोग बहार जाकर बसना चाहते है या पढाई करने जाना चाहते है उनके लिए खास तोर पर हम अंग्रेजी और हिंदी मैं लेख प्रकाशित करते रहते है । आने वाले लेखों मैं हम आपके लिए कम समय मैं स्मार्ट वर्क करके ऑनलाइन कारोबार के बारे मैं आपके लिए ख़ास लेख ला रहे है । आपसे विनती है की हमारे फेसबुक पेज को लाइक करैं और वेबसाइट के मैन पेज पर जा कर उसे फॉलो करैं ।

धंन्यवाद

एम् फ़ज़ील

फेसबुक लिंक : https://www.facebook.com/EducationConsultantss/?ref=aymt_homepage_panel&eid=ARC-JX5r5_5YtO3NASM4uanXYJIbSjOsJc25tjZgfMSM-mA_De_LVvWSQaSuNu3gqKS21_ाकोजो८सब्प९

वेबसाइट लिंक : https://workandresidencypermit.com/

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s